सत्य असत्य क्या है

सत्य का मतलब जो सत्य है जो सही है और असत्य का मतलब है जो सही नहीं है जनरल यही माना गया है लेकिन सनातन धर्म में उनकी व्याख्या इस तरह है जो चीज को जीवित रखती है उनके लिए आपका होना जरूरी है वह सत्य है वहां असत्य है आपके बिना भी जो चीज हो सकती हैं वह सत्य है क्योंकि उसमें आपकी जरूरत नहीं है अगर मैं बड़ी-बड़ी बात करूं तो सबसे चीज वही है जो चीज आप के बिना भी चल सकती है उसके सत्य कहा गया है और जिसको आपकी जरूरत है उसको असत्य कहा गया है यही सिद्धांत को 4 लोगों ने अपने फायदे के लिए उसको मैनिपुलेट किया है

प्यार क्या है

प्यार एक एहसास है या फिर सेक्स की तड़प है या फिर जरूरत को पूरा करने का साधन है अपनों के सपनों को पूरा करने की सीडी है

क्या वह जीवन को आगे बढ़ाता है या फिर स्वार्थ को वह बढ़ावा देता है या फिर ईगो को बढ़ावा देता है

अभिमान को बढ़ावा देता है या फिर विश्वास को बना देता है या फिर आप कितने बड़े चू** हो वह साबित करता है

 

मेरे लिए प्यार से रहना एक जीवन है और ढेरों संभावना है

विद्यार्थी लभते विद्यां धनार्थी लभते धनम् । पुत्रार्थी लभते पुत्रान्मोक्षार्थी लभते गतिम् ॥ ६॥

विद्यार्थी लभते विद्यां धनार्थी लभते धनम् ।
पुत्रार्थी लभते पुत्रान्मोक्षार्थी लभते गतिम् ॥ ६॥
इस श्लोक में विद्यार्थी को विद्या मिलती है धन धनी को धन मिलता है पुत्रों की इच्छा रखने वालों को पुत्र मिलता है लेकिन मोक्ष की कामना वाले को गति क्यों मिलती है मोक्ष क्यों नहीं मिलता
मोक्ष का मतलब होता है मोहो से करना यानी कि मोह को नाश करना है जबकि गति का मतलब है आगे बढ़ना
यहां पर इस नियम को बल मिलता है जिसका जन्म है उसका अंत निश्चित है और जिसका अंत है उसका जन्मदिन है
  • यह दूसरा नियम को भी बल मिलता है गति संसार का नियम है या फिर परिवर्तन संसार का नियम है परिवर्तन और गति दोनों एक ही चीज है
  • गति के दो रूप होते शून्य गति और एक गति

हरिजन का क्या मतलब है

  • हरिजन का मतलब है
  • हरि का जन हरि का मतलब है जो हर लेता है ,ले लेता है जन का मतलब है लोगों वस्ती
  • दुख हरने वाला
  • बुराई को हरने वाला
  • हर हर महादेव इनका भी मतलब यही है जो महान देव है वह हर ले या फिर जो हर लेता है वही महादेव है आप दुख समझ लीजिए बुरा ही समझ लीजिए जो आप नहीं कर सकते हो वह कर सकता है वह समझ लीजिए वगैरा-वगैरा
  • हरि हरि बोल इनका मतलब यह है हरि लय हरि लय

नोट इस मंत्रों का वेदों में उपनिषदों में कहीं भी उल्लेख नहीं है यह मानव निर्मित बनाए हुए हैं और उनका उपाय यह भी है जो आगे बनाए अर्थ में हो सकता है

यहां मंत्र मंत्रों के नियम के अनुसार इसलिए रिजल्ट नहीं दे पा रहे होंगे क्योंकि यह मंत्रों है ही नहीं

 

बाकी आप अपने विवेक और आपके अनुभव योग्यता रखते हैं

 

आपके पास और ज्ञान है कृपया आप हमें  शेयर करें या फिर हमें कमेंट में बताएं

जीवन क्या

मेरी रिसर्च में मैंने पाया जीवन याद और अनुभव का मेल है और कभी कभी अनुरूप  धारणा भी आ जाती है

विज्ञान का मतलब क्या है विज्ञान का अर्थ क्या

विज्ञान का मतलब है विविध ज्ञान डिफरेंट डिफरेंट सोचने का तरीका या फिर सोच

आपको यह बात इस तरह समझनी चाहिए कि जब आप कोई चीज को देखते हैं या फिर अनुभव करते हैं तो उनको डिफरेंट डिफरेंट एंगल से सोचने की देखने की समझने की क्रिया को और उसमें से प्राप्त किया हुआ जो नॉलेज अनुभव उस चीज को विज्ञान कहते हैं

 

जिसका विषयक ज्ञान भी आप कह सकते हो हम टेक्निकल उसको पीएचडी कहते हैं

 

 

विज्ञान का अलग-अलग अर्थ होता है लेकिन ज्यादातर लोग एक ही चीज को विज्ञान के अंत में समझते हैं जो कि उस चीज को समझने के लिए और भी पर्याप्त माना गया है

 

जीवन क्या है

जब हम जीवन की बात कर रहे हैं तो आपके मन में क्या आता है क्या आप शेयर करोगे मुझे नीचे कमेंट बॉक्स में बताइए आप क्या जानते हो और क्या सोचते हो

जीवन क्या है

जब हम जीवन की बात कर रहे हैं तो आपके मन में क्या आता है क्या आप शेयर करोगे मुझे नीचे कमेंट बॉक्स में बताइए आप क्या जानते हो और क्या सोचते हो

आशा क्या है ,आशा का मतलब क्या है

आशा = आ शायद

शायद  =  शा  याद

एक धारणा या फिर संभावना

 

आप जीवन में बहुत बार लोगों से या फिर अपने आप से कहते हो मुझे आशा है आशा रख इसका मतलब यह होता है की संभावना है

 

आप जहां भी आशा का शब्द यूज करते हो वहां पर आप संभावना वर्ल्ड का यूज कीजिए फिर देखिए क्या होता है आपके जीवन में

 

आशा संभावना इसमें से कौन पॉजिटिव है कौन पॉजिटिव नहीं है वहां आप को डिसाइड करना है

 

आपको कुछ कहना है कमेंट बॉक्स में बोल दीजिएगा मैं जरूर रिप्लाई करूंगा